पीरियड्स के बारे में 5 बाते जो आप नहीं जानते होंगे

क्या आप जानते है की महिलाओ के जीवनकाल में 450 पीरियड्स आते है , पीरियड्स के साथ कई बार mahilay इसकी आदि हो जाती है , उन्हें यह भ्रम हो जाता है की वे इस बारे में सब कुछ जानती है लेकिन अक्सर perio दस इसे समय आकार चौका देते है अब उनके आने की उम्मीद ही नहीं होती | तो हम आपको बाते है पीरियड्स से जुड़े और भी कई पहलुओ को |

  1. पीरियड्स के समय भी महिलाये गर्भवती हो सकती है

यह बात वैसे तो चौकाने वाली है लेकिन इसे आप समझे | पीरियड्स आपको प्रेगनेंसी से सुरक्षा नहीं देते , सदियों पुराना यह तथ्य पूर्ण रूप से मिथ्या है | इसका कारन यह है की कुछ महिलाये उस समय भी ब्लीड कर सकती जब हर महीने उसकी ओबरी अंडा रिलीज़ करती है इसे ओवुलेशन कहा जाता है जबकि इस अवधि में महिला उर्वरता के चरम पर होती है |इस अवधि में बनाया गया यौन सम्बन्ध गर्भधारण के अवसर को बाधा देती है |इसके अलावा पीरियड्स ओवर हो जाने के बाद जब रक्तस्त्राव बंद हो जाता है तब कुछ दिनों बाद भी ओवेरी से अंडा रिलीज़ हो सकता है चूँकि शुक्राणु महिला के शारीर में तीन दिन तक विद्यमान रहते है इसलिए गर्भधारण के अवसर बढ़ जाते है |

  1. भ्रमित करने वाले पीरियड्स

बर्थ कन्ट्रोल पिल्स लेते रहने के बाद भी पीरियड्स आ रहे है तो वे सही पीरियड्स नहीं है | इन्हें मंथली विड्राल ब्लीडिंग कहा जाता है | ये रेगुलर पीरियड्स से अलग होते है | बर्थ कन्ट्रोल पिल्स यद्यपि ओवुलेशन की प्रक्रिया को रोकती है लेकिन हारमोंस थेरेपी लेने के 1 हफ्ते बाद पिल्स नहीं खाती है तब भी गोलिया शारीर को अंडा रिलीज़ करने से रोकती है |इसके बावजूद बर्थ कन्ट्रोल पिल्स पुरे महीने यूटेरस में लीनिंग बनने से नहीं रोक पति है| महीने के चौथे हफ्ते में पीरियड्स जैसी ब्लीडिंग केवल शारीर में हारमोंस की कमी के कारन पैदा हुई प्रक्रिया है |

  1. पीरियड्स हमेशा सोच के विपरीत होते है

अपने देखा होगा की जब भी आप पीरियड्स के बारे में सुनिश्चित कर रही होती है की पीरियड्स आने वाले है तभी सब कुछ बदल जाता है | इसके लिए हार्मोन्स शिफ्ट को ज़िम्मेदार मन जाता  है जो साडी ज़िन्दगी बदलता रहता है | रक टिनएज गर्ल की सायकल 21 से 45 दिन तक हो सकती है |बाद में समय बिताने के साथ ही यह अवधी कम होने लगती है 21 से 35 दिन तक भी सायकल आ सकती है प्रिमेमिनोपोज़ के समय हारमोंस चंगेस आ सकते है इस समय शारीर इस्ट्रोजेनकी मात्रा कमुत्पादित करता है |इस अवस्था में पीरियड्स की अवधि कम अथवा ज्यादा भी हो सकती है |ब्लीडिंग कम अथवा हैवी भी हो सकते है |पूरी तरह पीरियड्स रुक जाने के बिच 10 साल तक लग सकते है जीवन में धीरे धीरे आने वाले परिवर्तन सामान्य माने जाते है |

  1. पीरियड्स को आसान बनाने के कई है विकल्प

आज कल बाज़ार में आपको कई तरह की सुविधा वाली चीज़े उपलब्ध है जिनसे आप अपने पीरियड्स को असं बना सकते है आज की महिलाये घर में बेठने की बजाये बहार जाकर अपने जीवन में कई तरह स वोर्किंग लाइफ को एन्जॉय कर रही है इसे में यदि पीरियड्स इस बाच में अर्चन बन जाये तो कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है |इससे बचने के लिए आप मार्किट में उपलब्ध पैड्स का इस्तेमाल कर सकते है आपको इस प्रतिस्पर्धा के युग में कई तरह के ब्रांड के पैड्स उपलब्ध है आप इन का यूज़ करके अपने जीवन को खुशहाल बनाये |

  1. पीरियड्स के बारे में बदले अपनी सोच

देखा जाये तो आज भी कई एस जगह है जहा पर आज भी पीरियड्स को हीन भावना से देखा जाता है आप अपने विचारो के माध्यम से तथा अपने नज़रिज़े से समाज में फैली इस तरह की भावना को हटाने का प्रयास करे |जिससे आने वाली पीढ़िया भी खुलकर अपने जीवन का आनंद ले सके |