तैलीय त्वचा को सुरक्षित करने के तरीके

तैलीय त्वचा में अकसर जल्दी धूल, कण मैल का जमा होना, त्वचा में चिपचिपी होना, मेकअप के दौरान मुंहासे का निकल आना, आदि का डर बना रहता है। ऐसे में तैलीय त्वचा को साफ रखना जरूरी है। जिससे होने वाले मुंहासों पिम्पलस से छुटकारा मिले और त्वचा सदाबहार सुन्दर रहे।

त्वचा को पोषण
सप्ताह में दो बार सेब के पतली स्लाइस कर शहद में मिलाकर  चेहरे पर 30 मिनट तक लगाकर रखें। बाद में हल्के गुनगुने पानी से धो लें। साबुन का इस्तेमाल न करें।

स्किन क्लीनिंग
चेहरे को दिन में दो बक्त गुनगुने पानी से धोयें। रोज सुबह और रात को दोनो वक्त चेहरा धायें। साबुन का इस्तेमाल न करें।

मेकअप रिमोव
शादी, पार्टी, बाहर इत्यादि से आने पर तुरन्त मेकअप उतारे। ज्यादा देर तक मेकअप चेहरे पर न रहने दें, सोने से पहले मेकअप जरूर उतारें। तैलीय त्वचा के मेकअप धोने के लिए सेलिसिलिक एसिड फेसवाश इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्रीम और माश्चराइज
त्वचा का माश्चराइज होना अति जरूरी है। चेहरा धोने के बाद एस्ट्रिंगजेंट इस्तेमाल करें। एस्ट्रिंगजेंट चेहरे पर ज्यादा न लगायें। चेहरे से माश्चराइज नमी हट सकती है।

सुरक्षित सनस्क्रीन
जब भी घर जा बाहर जायें। चेहरे पर सनस्क्रीन जरूर जगायें। तैलीय त्वचा के लिए सनस्क्रीन जरूरी है। कैमिकलयुक्त सनस्क्रीन से बचें।

पक्का पपीता लेप
सप्ताह में तैलीय त्वचा पर पके पपीते का लेप जरूर करें। 20 मिनट बाद ठंड़े पानी से धो लें। फिर बर्फ से हल्का रगड़े। इससे चेहरे पर रोनक और भी ज्यादा आ जाती है।

नींबू रस एवं बादाम तेल
नींबू रस और बादाम को बाराबर में मिलायें। फिर तैलीय त्वचा पर 15-20 मिनट तक लगाकर छोड़ दें। फिर सादे पानी से साफ कर धो लें। सप्ताह में 3 बार और लगातार महीने तक लगाने से त्वचा से दाग धब्बे मिट जाते हैं। और तैलीय त्वचा नेचुरल निखार में बदल जाती है।

खान-पान 
तैलीय त्वचा होने पर रोज प्रर्याप्त मात्रा में पानी पीयें। भुनी, तली चीजों से परहेज करें। रोज रात को सोते समय 1 गिलास पानी जरूर पीयें। सुबह चेहरे पर नई रोनक आती है। और रात को नींद भी अच्छी आती है। तैलीय त्वचा रूखी त्वचा से ज्यादा सक्रीय होती है। खूबसूरत निखार में तैलीय ज्यादा सुन्दर दिखती है।

5 thoughts on “तैलीय त्वचा को सुरक्षित करने के तरीके

Leave a Reply

Your email address will not be published.