इसबगोल और उसके फायदे

“हाईपर एसिडिटी” से रहत के लिए इसबगोल खाए क्योकि इससे बना जेल पेट के अम्ल तथा पाचक रसो को कंट्रोल कर पेट की आतंरिक परत की सुरक्षा करता है. पाचन तंत्र से जुड़ी समस्याओं के लिए ईसबगोल की भूसी सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है। पेट की समस्या जैसे पेचिश में ईसबगोल की भूसी का लंबे समय से उपयोग हो रहा है।  कब्ज, दस्त , जोड़ों के दर्द , मल में रक्त, पाचनतंत्र संबंधी गड़बड़ी, शरीर में पानी की कमी , मोटापा व डायबिटीज में ईसबगोल की भूसी लाभकारी है।  इसबगोल को प्रकृति के सबसे शुद्ध रूप में सेवन किया जाने वाला उत्पाद मन जाता है इसके प्रकृति स्वास्थ्यवर्धक रेशे केवल आंतो में अवशोषित नही रहते है बल्कि किसी भी किस्म की दवा के साथ प्रतिक्रिया भी नही करते है .इन रेशो की अन्य खूबी यह है की ये किसी विटामिन तथा खनिज की अवशोषण प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार का हस्तछेप नही करते इसबगोल को पानी ,फ्रूट जूस ,सामान्य सॉफ्ट ड्रिंक ,दूध ,दही आदि के साथ मिलाकर खाया जा सकता है .

वेट लास

इसबगोल वजन कम करने में बहोत सहायक है वजन कम करने में सबसे बड़ी चुनोती है भूक पर नियन्त्रण रखना .इसबगोल इसमें मदद करता है यह पेट को भरा हुआ महसूस करता है साथ ही कोलोन की सफाई में भी मदद करता है .भोजन के उपरांत वसा अवशोषण की प्रक्रिया के दौरान विषाक्त चीजों को बहार निकलता है .

डायबिटीज़

इसके अघुलनशील फाइबर मधुमेह को मैनेज करते है व भूख को नियंत्रित रखते है ,जबकि घुलनशील फाइबर पेट में उपस्थित भोजन के साथ एक जैल बनाते है ,जो पाचन तथा अवशोषक की प्रक्रिया को धीमा रखता है इससे रक्त में शर्करा की मात्रा सामान्य रहती है .

फिशर्स तथा पाइल्स

इसबगोल के रेशे ही मल को नरम करके त्याग करने में मदद करते है .इससे फिशर्स या पिल्स के दर्द में रहत मिलती है .इसबगोल में दोनों प्रकार के फाइबर यानी रेशे रहते है इसमें ७० फीसदी घुलनशील रेशे तथा 30 फीसदी अघुलनशील रेशे होते है जो  फायदा करते है.

डायरिया

इसबगोल से दस्त भी रोके जा सकते है. क्योकि इसका घुलनशील फाइबर ही अन्तो के पानी को अवशोषित कर लेता है और फूल कर ढीले मल को बाँध कर तुरंत रहत देता है ,इसलिए दही में दो चम्मच इसबगोल मिलाकर खाने से आराम मिलता है .

कार्डियक

इसके फाइबर कोलेस्ट्रोल लेवल को कम कर दिल को स्वस्थ रखते है .ये सेरम कोलेस्ट्रोल को रेगुलेट करते है इसबगोल को लो –फैट डायेट के साथ खाना अच्चा है .

पेट दर्द

इसबगोल का इस्तेमाल पेट के लिए अच्चा होता है यह पेट दर्द होने पर दही के साथ लेने पर फायदा करता है .तथा यह पेट दर्द को जल्द ही ठीक करता है .

 

आम तौर पर लोग इसबगोल का इस्तेमाल पेट सम्बन्धी समस्याओ के लिए करते है लेकिन इसके अनेक फायदे है इसबगोल को अंग्रेजी में साइलियम हस्क कहा जाता है और यह प्लाटेगो ओवेटो नमक पादप के बीजो की भूसी है इसबगोल आर्द्रता ग्राही है और यह तरल के संपर्क में आते ही फूलने लगता है और चिपचिपा हो जाता है .

Leave a Reply

Your email address will not be published.